Chhattisgarh

  • 15-Sep-2020
  • 241
रायपुर, 14 सितंबर। रविवि के छात्र-छात्राओं ने राज्यपाल, कुलाधिपति सुश्री अनुसुईया उइके से हाल ही में आयोजित की जा रही विवि परीक्षाओं के लिए कोई सुरक्षित तरीका अपनाए जाने का आग्रह किया है। ताकि परीक्षार्थियों को कोरोना संक्रमण से बचाया जा सके।
Chhattisgarh रविवि परीक्षाओं के लिए कोई सुरक्षित तरीका अपनाया जाए
उनका कहना है कि छत्तीसगढ़ में कोरोना संक्रमण खतरनाक स्तर पर पहुंच गया है। ऐसी स्थिति में विवि परीक्षाएं आयोजित करना बेहद चुनौती पूर्ण है। छत्तीसगढ़ के सबसे बड़े विवि पं. रविशंकर विवि में परीक्षा आयोजन की तैयारी शुरु कर दी गई है, लेकिन इसमें कुछ बातें ऐसी है, जिससे परीक्षार्थियों के संक्रमित होने की आशंका है। सभी परीक्षार्थियों को उत्तर पुस्तिका प्राप्त करने सेंटर जाना होगा और रोजाना उत्तर पुस्तिका जमा करने सेंटर जाना होगा। इस व्यवस्था से संक्रमण बढऩे का खतरा है। सेंटर में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराना काफी चुनौती होगी, क्योंकि उत्तर पुस्तिका जमा करने के लिए परीक्षार्थी एक साथ जमा होंगे। कई परीक्षार्थी या उनके परिवार या परिचित इस संक्रमण की चपेट में हो सकते हैं। ऐसी स्थिति बाकी परीक्षार्थियों के लिए खतरनाक हो सकता है। कई परीक्षार्थी कंटेटमेंट जोन में निवासरत हैं, ऐसी स्थिति में उत्तर पुस्तिका प्राप्त करने और जमा करने जाना संभव नहीं होगा। अगर, वो चले गए तो गाइडलाइन के विपरीत है। छात्र-छात्राओं का यह भी कहना है कि कई कॉलेज ऐसे हैं, जहां के प्रोफेसर, स्टॉफ संक्रमित हैं, या वो इलाका कंटेटमेंट जोन में है। इस लिहाज से उत्तर पुस्तिका लेने और जमा करने में दिक्कत हो सकती है। इस मसले पर विवि प्रशासन से बात करने की कोशिश की गई, तो उनका जवाब था कि परीक्षा सिस्टम कंम्प्यूटराइज्ड है। ऐसे में ओएमआर शीट से ही परीक्षा आयोजित करना और उसका मूल्यांकन आसान है। लेकिन सवाल यह है कि आसान तरीके के कारण परीक्षार्थी संकमित न हो जाए। इस ओर ध्यान देना जरूरी है। उन्होंने कुलाधिपति से आग्रह किया है कि इस दिशा में कोई पहल कर सुरक्षित तरीका अपनाया जाए, ताकि परीक्षार्थियों को संक्रमण से बचाए जा सके।