Chhattisgarh

  • 02-Sep-2020
  • 224
रायपुर, 1 सितम्बर। पंडित रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय स्वर्ण जयंती दीक्षांत समारोह वर्ष 2014 में बतौर मुख्य अतिथि शामिल पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी से जुड़ी यादों को पूर्व कुलपति एसके पाण्डेय ने ‘छत्तीसगढ़’ से साझा किया। 
Chhattisgarh प्रणब की यादें साझा की डॉ. पांडेय ने

डॉ. एसके पाण्डेय ने रविवि के स्वर्णजयंती दीक्षांत समारोह में बतौर मुख्य अतिथि पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की मौजूदगी को विश्वविद्यालय का सौभाग्य बताया। उन्होंने बताया कि स्वर्ण जयंती दीक्षांत समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में शामिल होने के लिए वह 4 जुलाई 2013 को राष्ट्रपति भवन पहुंचे थे। राष्ट्रपति से मिलने के लिए पूर्व राज्यपाल शेखर दत्त ने उनके लिए अपाइंटमेंट लिया था। राष्ट्रपति में प्रणब मुखर्जी से आत्मीय भेंट आज भी उन्हें याद है। 

पूर्व कुलपति एसके पाण्डेय ने बताया कि कुल क्षणों की मुलाकात और उनकी गरिया से मुलाकात और उनकी गरिमा से वह गदगद हो गए थे। दीक्षांत समारोह के लिए उन्होंने स्वीकृति दे दी और 26 जुलाई 2014 में उन्होंने बतौर इसमें मुख्य अतिथि शामिल होकर अपना वादा पूरा भी किया। 

मुझे याद है उस वक्त वह सिर्फ रविवि के दीक्षांत समारोह में भाग लेने ही आए थे। आज छत्तीसगढ़ में रामगमन पथ बनाने की योजना बनाई जा रही है लेकिन आज से 6 साल पहले मुझे याद है कि उन्होंने अपने उद्बोधन में भगवान राम के ननिहाल के रूप में छत्तीसगढ़ के महात्यय को प्रकट किया था। दीक्षांत समारोह के दौरान उनकी सहजता सरलता से मैं प्रभावित रहा। आभार व्यक्त करने पर उन्होंने कहा था मुझे तो आना ही था।