National

  • 24-Sep-2020
  • 197
यह पहला मौका नहीं है जब काशी की बिटिया शिवांगी सिंह (Shivangi Singh) ने इतिहास रचा हो. वर्ष 2017 में भी उन्होंने इतिहास रचा था जब वह इंडियन एयरफ़ोर्स में फाइटर प्लेन उड़ाने वाली पांच महिला पायलटों में शामिल हुई थीं.
National राफेल की पहली महिला फाइटर पायलट बनीं वाराणसी की शिवांगी सिंह

वाराणसी. काशी की बेटी फ्लाइट लेफ्टिनेंट शिवांगी सिंह (Shivangi Singh) ने न सिर्फ अपने घर और जिला, बल्कि देश का मान बढ़ाया है. शिवांगी सिंह देश के सबसे ताकतवर फाइटर प्लेन राफेल (Rafael) के स्क्वाड्रन गोल्डन एरो में इकलौती और पहली महिला पायलट (Woman Pilot) के तौर पर शामिल हुई हैं. 
शिवांगी सिंह ने एक महीने की टेक्निकल ट्रेनिंग में क्वालीफाई करने के बाद अब वे राफेल की पहली स्क्वाड्रन का हिस्सा हैं. पिता ने बताया कि दो दिन पहले ही शिवांगी से बात हुई तो उसने यह जानकारी दी. उन्होंने कहा कि बेटी की इस उपलब्धि पर उन्हें नाज है. इतना ही नहीं शिवांगी देश की अन्य बेटियों के लिए भी नजीर हैं जो अपने हौसले को पंख लगाना चाहती है.
यह पहला मौका नहीं है जब काशी की बिटिया ने इतिहास रचा हो. 2017 में भी उन्होंने इतिहास रचा था जब वे इंडियन एयरफ़ोर्स में फाइटर प्लेन उड़ाने वाली पांच महिला पायलटों में शामिल हुईं. अब तीन साल बाद ही उनके नाम एक और उपलब्धि जुड़ गई है.
शिवांगी सिंह के पिता कुमारेश्वर सिंह टूर एंड ट्रैवेल का काम करते हैं.शहर के फुलवरिया गांव की रहने वाली शिवांगी सिंह बचपन से ही आसमान में उड़ना चाहती थीं. मान सीमा सिंह ने बताया कि वह बचपन से ही नटखट थी और चिड़ियों की तरह उड़ना चाहती थी.
शिवांगी वायु सेना का फाइटर विमान मिग -21 बाइसन उड़ाती हैं. वह राफेल के लिए अंबाला में तकनीकी प्रशिक्षण ले रही थीं।.https://hindi.news18.com/