Sport

  • 30-Sep-2020
  • 193
दुबई, 30 सितम्बर (आईएएनएस/ग्लोफैंस)। आईपीएल-13 में आज दुबई इंटरनेशनल स्टेडियम में राजस्थान रॉयल्स का सामना कोलकाता नाइट राइडर्स से होगा।
राजस्थान ने अपने पिछले मैच में इतिहास रचा था। किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ राजस्थान ने 224 रनों का पीछा किया था और आईपीएल के इतिहास में 226 रन बनाते हुए सबसे बड़ी जीत हासिल की थी। इस मैच में संजू सैमसन, कप्तान स्टीव स्मिथ ने अर्धशतकीय पारियां खेली थीं। सैमसन ने 42 गेंदों पर 85 रन बनाए थे और कप्तान स्मिथ ने 27 गेंदों पर 50 रन बनाए थे। लेकिन इन दोनों के मेहनत पर पानी फिरता दिख रहा था। तभी राहुल तेवतिया ने करिश्मा कर 18वें ओवर में लगातार पांच छक्के जमा टीम को जीत दिलाई थी। इस मैच में एक बार फिर सभी की नजरें सैमसन और तवतिया पर होंगी। सैमसन ने दो मैच खेले हैं और दोनों में अर्धशतक जमाए हैं। पंजाब के खिलाफ खेली गई पारी के बाद तो उनकी जमकर तारीफ की जा रही है। सैमसन, स्मिथ फॉर्म में है। जोस बटलर ने पहले मैच में सिर्फ चार रन बनाए थे। इस मैच में बटलर और रॉबिन उथप्पा पर भी नजरें होंगी। बल्लेबाजी में कोई बदलाव हो इसकी संभावना नहीं दिखती है। हां, क्रम जरूर बदल सकते हैं। तेवतिया की हार्ड हिटिंग को नेट्स में देख राजस्थान के टीम प्रबंधन ने उन्हें पंजाब के खिलाफ उथप्पा से पहले भेजा था। कोलकाता के खिलाफ उथप्पा को पहले भेजा जा सकता है। गेंदबाजी में जरूर टीम बदलाव कर सकती है। यहां अंकित राजपूत को बाहर भेजा जा सकता है जो पिछले मैच में काफी खचीर्ले साबित हुए थे। बाकी जोफ्रा आर्चर का खेलना तय है। पिछले दोनों मैचों में आर्चर ने बल्ले से भी टीम में अहम भूमिका निभाई है। सीएसके के खिलाफ आखिरी ओवर में चार छक्के और फिर पंजाब के खिलाफ भी शमी पर दो छक्के लगा उन्होंने टीम को जीत की करीब पहुंचाया था। दूसरी ओर, कोलकाता को पहले मैच में तो हार मिली थी। दूसरे मैच में उसने उम्दा प्रदर्शन करते हुए सनराइजर्स हैदराबाद को हराया था। पिछले मैच में कोलकाता के लिए एक अच्छी बात यह रही थी कि पैट कमिंस ने अपनी उपयोगिता साबित की थी। पहले मैच में रन लुटाने के बाद उनकी आलोचनाएं हो रही थीं जिन्हें उन्हें दूसरे मैच में शांत किया था। वहीं युवा शिवम मावी ने अपने दोनों मैचों में प्रभावित किया है। कमलेश नागरकोटी और आंद्रे रसेल भी टीम के लिए उपयोगी रहे हैं। स्पिन में कुलदीप यादव और सुनील नरेन के अलावा वरुण चक्रवर्ती को भी मौका मिला था। पिछले मैच में कोलकाता ने एक अतिरिक्त गेंदबाज खेलाया था और वो इस मैच में भी यही रणनीति अपनाती है या नहीं, यह देखना होगा। उम्मीद है कि यह इसी रणनीति के साथ उतरेगी जिसका कारण राजस्थान की मजबूत बल्लेबाजी है, खासकर उनका ऊपरी क्रम, लेकिन ऐसे में कोलकाता के बल्लेबाजों पर जिम्मेदारी बढ़ जाएगी। हैदराबाद के खिलाफ युवा शुभमन गिल ने 62 गेंदों पर 70 रनों की पारी खेली थी। इस सीजन गिल पर कोलकाता की बल्लेबाजी का भार है और इसलिए उनकी जिम्मेदारी बढ़ जाती है। अगर टीम अतिरिक्त गेंदबाज के साथ जाती है तो गिल को एक बार फिर ज्यादा जिम्मेदारी ले टीम को अच्छी शुरूआत देनी होगी। मध्य क्रम में कप्तान दिनेश कार्तिक फॉर्म में नहीं हैं। यह कार्तिक को कप्तान वाली भूमिका निभाते हुए जिम्मेदारी लेनी होगी। उनके अलावा इयोन मोर्गन और रसेल को भी आगे रहना होगा। मोर्गन ने पिछले मैच में गिल के साथ साझेदारी कर टीम को जीत दिलाई थी। टीम लड़खड़ती है तो मोर्गन और रसेल पर भार होगा और यह दोनों टीम को हर संकट में से निकालने में सक्षम हैं।