Sport

  • 28-Sep-2020
  • 202
शारजाह। विकेटकीपर संजू सैमसन (85) और राहुल तेवतिया (53) के छक्कों की बरसात से राजस्थान रॉयल्स ने विशाल लक्ष्य का सफलतापूर्वक पीछा करते हुए किंग्स इलेवन पंजाब पर रविवार को तीन गेंद शेष रहते चार विकेट से जीत दर्ज की और आईपीएल में नया रिकॉर्ड बना दिया।
Sport संजू सैमसन और राहुल तेवतिया के छक्कों की बरसात से जीता राजस्थान

पंजाब ने सलामी बल्लेबाज मयंक अग्रवाल (106) के पहले आईपीएल शतक और उनकी कप्तान लोकेश राहुल (69) के साथ उनकी पहले विकेट के लिए 183 रन की बड़ी साझेदारी की मदद से 20 ओवर में दो विकेट पर 223 रन का विशाल स्कोर बनाया लेकिन राजस्थान ने 19.3 ओवर में छह विकेट पर 226 रन बनाकर रोमांचक जीत हासिल कर ली।

राजस्थान ने आईपीएल इतिहास में लक्ष्य का पीछा करते हुए सबसे बड़ी जीत हासिल की। सैमसन और तेवतिया ने सात-सात छक्के उड़ाकर पंजाब के हाथों से जीत छीन ली। तेवतिया ने 18वें ओवर में तेज गेंदबाज शेल्डन कॉट्रेल की गेंदों पर पांच छक्के उड़ाकर मैच का पलड़ा राजस्थान की तरफ झुका दिया। राजस्थान की यह लगातार दूसरी जीत है जबकि पंजाब को तीन मैचों में दूसरी हार का सामना करना पड़ा।

पंजाब के विशाल स्कोर बनाने के बाद किसी को उम्मीद नहीं थी कि राजस्थान लक्ष्य को हासिल कर पायेगा लेकिन राजस्थान और खासकर सैमसन तथा तेवतिया ने वह कारनामा कर दिखाया।

लक्ष्य का पीछा करते हुए राजस्थान ने जोस बटलर को शुरुआत में ही गंवाया। आईपीएल में पहला मैच खेलने उतरे बटलर मात्र चार रन बनाकर आउट हो गए। उन्हें शेल्डन कॉट्रेल ने आउट किया। कप्तान स्टीवन स्मिथ और विकेट कीपर संजू सैमसन ने दूसरे विकेट के लिए 81 रन की साझेदारी की। राजस्थान के 100 रन 8.5 ओवर में पूरे हुए।

स्मिथ ने अपना अर्धशतक पूरा कर लिया था लेकिन अर्धशतक पूरा करने के बाद जेम्स नीशम की गेंद पर मोहम्मद शमी को कैच थमा बैठे। स्मिथ ने 27 गेंदों पर 50 रन में सात चौके और दो छक्के लगाए।

स्मिथ का विकेट 100 के स्कोर पर गिरा। पिछले मैच के मैच विजेता संजू सैमसन ने राहुल तेवतिया के साथ तीसरे विकेट के लिए 61 रन की साझेदारी की। सैमसन 17वें ओवर की पहली गेंद पर शमी का शिकार बन गए। सैमसन का कैच विकेटकीपर लोकेश राहुल ने लपका। सैमसन ने 42 गेंदों पर 85 रन में चार चौके और सात छक्के लगाए।

बाएं हाथ के बल्लेबाज राहुल तेवतिया मैदान में आने के बाद संघर्ष कर रहे थे और उन्हें मैदान पर भेजने पर सवाल भी उठाये जा रहे थे लेकिन तेवतिया ने 18वें ओवर में पांच छक्के उड़ाकर राजस्थान के स्कोर को 200 के पार पहुंचा दिया। इस ओवर में 30 रन पड़े।

शमी ने 19वें ओवर की पहली गेंद पर रोबिन उथप्पा को आउट किया। उथप्पा ने दो चौकों की मदद से नौ रन बनाये। नए बल्लेबाज जोफ्रा आर्चर ने आने के साथ ही पहली दो गेंदों पर छक्के जड़ दिए। मुकाबला बेहद रोमांचक हो चला था। लेकिन तेवतिया ने शमी की पांचवीं गेंद पर छक्का जड़कर राजस्थान को जीत के करीब ला दिया।

तेवतिया आखिरी गेंद पर आउट हुए लेकिन वह टीम की जीत को सुनिश्चित कर चुके थे। तेवतिया ने 31 गेंदों पर 53 रन की विस्फोटक पारी में सात छक्के लगाए। अब राजस्थान को आखिरी ओवर में जीत के लिए दो रन चाहिए थे। रियान पराग को अंतिम ओवर की दूसरी गेंद पर स्पिनर मुरुगन अश्विन ने बोल्ड कर दिया। टॉम करेन ने आने के साथ चौका मारा और राजस्थान ने मैच जीत लिया। आर्चर 13 रन पर नाबाद रहे।

इससे पहले मयंक ने आईपीएल में अपना पहला शतक बनाया और उन्होंने 50 गेंदों पर 106 रन में 10 चौके और सात छक्के लगाए। उन्होंने 45 गेंदों में शतक पूरा किया और आईपीएल में दूसरा सबसे तेज शतक बना डाला। मयंक ने अपना अर्धशतक 26 गेंदों में पूरा किया और अगले 50 रन 19 गेंदों में ठोक डाले।

राहुल ने अपनी शानदार फॉर्म जारी रखते हुए 54 गेंदों पर 69 रन में सात चौके और एक छक्का लगाया। मयंक और राहुल ने पहले विकेट के लिए 163 ओवर में 183 रन की विशाल साझेदारी की। आईपीएल इतिहास में पंजाब की तरफ से यह सबसे बड़ी साझेदारी थी। ग्लेन मैक्सवेल ने नाबाद 13 और निकोलस पूरन ने नाबाद 25 रन बनाकर पंजाब को 223 तक पहुंचाया लेकिन पंजाब के गेंदबाज इस स्कोर का बचाव नहीं कर सके।

मयंक इस शतक के साथ पहले ऐसे भारतीय खिलाड़ी बन गए हैं जिन्होंने रणजी ट्रॉफी में तिहरा शतक, विजय हजारे ट्रॉफी वनडे टूर्नामेंट में 150 से ज्यादा रन, सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी टी-20 टूर्नामेंट में शतक और आईपीएल में शतक बनाया है।

पंजाब ने छह ओवर के पॉवरप्ले में 60 रन और 10 ओवर में 110 रन बनाये थे। पंजाब ने अगले 10 ओवर में 113 रन ठोके और टीम विशाल स्कोर पर पहुंच गई। मयंक को टॉम करेन और राहुल को अंकित राजपूत ने आउट किया। जोफ्रा आर्चर ने चार ओवर में 46, श्रेयस गोपाल ने 44 और करेन ने 44 रन लुटाए। सैमसन को उनकी मैच विजयी पारी के लिए प्लेयर ऑफ द मैच का पुरस्कार मिला। वह लगातार दूसरे मैच में प्लेयर ऑफ द मैच बने।