Status
मांगी थी दुआ हमने रब से,
मुझे दोस्त दो जो अलग हो सबसे,
उसने मिला दिया हमें आपसे,
और कहा संभालो इसे ये अनमोल है सबसे।
वादा करते हैं आपसे हमेशा दोस्ती निभाएंगे,
कोशिश यही रहेगी आपको नहीं सतायेंगे,
जरुरत कभी पड़े तो दिल से पुकार लेना,
किसी और के दिल में होंगे तो भी चले आएंगे।
तुम खफा हो गए तो कोई ख़ुशी न रहेगी,
तुम्हारे बिना चिरागों में रौशनी न रहेगी,
क्या कहें क्या गुजरेगी दिल पर ऐ दोस्त,
जिंदा तो रहेंगे लेकिन ज़िंदगी न रहेगी।
एक प्यारा सा दिल जो, कभी नफरत नहीं करता,
एक प्यारी सी मुस्कान जो, कभी फीकी नही पड़ती,
एक एहसास जो कभी दु:ख नहीं देता,
और एक रिश्ता जो कभी खत्म नहीं होता।
दोस्ती की राह में हद से गुजर जायेंगे हम,
आँखों के रास्ते तेरे दिल मे उतर जायेंगे हम,
ऐ दोस्त तू अगर आने का वादा करें तो,
तेरी राहों में फूल बनकर बिखर जायेंगे हम।
हर ख़ुशी दिल के करीब नहीं होती,
ज़िन्दगी ग़मों से दूर नहीं होती,
ऐ दोस्त दोस्ती को संजो कर रखना,
दोस्ती हर किसी को नसीब नहीं होती।
मंज़िलों से अपनी कभी दूर मत जाना,
रास्तों की परेशानियों से टूट मत जाना,
जब भी जरूरत हो ज़िन्दगी में अपनों की,
ऐ दोस्त हम तेरे अपने हैं ये भूल मत जाना।
समंदर न हो तो कश्ती किस काम की,
मजाक न हो तो मस्ती किस काम की,
दोस्तों के लिए कुर्बान है ये ज़िन्दगी,
दोस्त न हो तो ये ज़िन्दगी किस काम की।
दोस्ती वो एहसास है जो मिटता नहीं,
दोस्ती वो पर्वत है जो कभी झुकता नहीं,
इसकी कीमत क्या है पूछो हमसे,
ये वो अनमोल मोती है जो बिकता नहीं।
उम्मीद की हस्ती को कोई डुबा नहीं सकता,
रौशनी का दीया कोई बुझा नहीं सकता,
हमारी दोस्ती है ताजमहल की तरह,
जिसे कोई दोबारा बना नहीं सकता।
आपका साथ है तो मुझे क्या कमी है,
आपकी मुस्कान से मिलती मुझे ख़ुशी है,
मुस्कुराते रहना दोस्त इसी तरह हमेशा,
आपकी मुस्कराहट में मेरी जान बसी है।
दोस्ती नाम है सुख-दुख की कहानी का,
दोस्ती नाम है सदा मुस्कुराने का,
ये कोई पल भर की जान-पहचान नहीं,
दोस्ती नाम है सदा साथ निभाने का।
बूंदों से बना हुआ छोटा सा समंदर,
लहरों से भीगती छोटी सी बस्ती,
चलो ढूंढ़े बारिश में दोस्ती की यादें,
हाथ में लेकर एक कागज़ की कश्ती।
दोस्ती नज़ारों से हो तो उसे कुदरत कहते हैं,
चाँद-सितारों से हो तो जन्नत कहते हैं,
हसीनों से हो तो मोहब्बत कहते हैं,
और आपसे हो तो उसे किस्मत कहते हैं।
वक्त की राहों में तुम भुला दो चाहे हमें,
पर हम तुमको न भूल पाएंगे,
तेरी दोस्ती की कसम ऐ दोस्त तू आवाज दे ख्वाबों में
हम हकीकत में चले आएंगे।
अगर दिल न मिले तो प्यार अधूरा होता है,
चाँदनी के बिना चाँद कब पूरा होता है,
दोस्तों की भूल कर ज़िन्दगी कटती नहीं,
क्यूँकी हर एक फ्रेंड जरूरी होता है।
हम तो पतझड़ में भी बहार ले आएंगे,
हम गहरी उदासी में भी प्यार ले आएंगे,
दोस्तों आप एक बार दिल से आवाज़ तो दो,
हम तो आपके लिए मौत से भी साँसे उधार ले आएंगे।
तेरे हर एक दर्द का एहसास है मुझे,
तेरी मेरी दोस्ती पर बहुत नाज़ है मुझे,
क़यामत तक न बिछड़ेंगे हम दो दोस्त,
कल से भी ज्यादा भरोसा आज है मुझे।
Dosti Shayari for Special Friend
सिलसिला आज भी वही जारी है,
तेरी याद, मेरी नींदों पर भारी है।
अपनी आँखों को आँसू दिया करते हैं,
जब नींद में तेरा नाम लिया करते हैं,
पलक झपके तुम्हारी तो समझ लेना,
हम तुझे याद किया करते हैं।
दीमक ज़दा किताब थी यादों की ज़िन्दगी,
हर वर्क खोलने की ख्वाहिश में फट गया।
दीमक ज़दा किताब थी यादों की ज़िन्दगी,
हर वर्क खोलने की ख्वाहिश में फट गया।
हमसे दूर जाओगे कैसे,
दिल से हमें भुलाओगे कैसे,
हम वो खुशबू हैं जो साँसों में बसते हैं,
भला साँसों को रोक पाओगे कैसे।
रोज सुबह उठता हूँ 
पत्थर सी आँखें लेकर,
ये तेरी यादों की हवा 
मेरे अश्क़ सुखा देती है।
रोज सुबह उठता हूँ 
पत्थर सी आँखें लेकर,
ये तेरी यादों की हवा 
मेरे अश्क़ सुखा देती है।
तेरी बेरुखी को भी रुतबा दिया जाता है,
तेरी मोहब्बत का हर फ़र्ज़ अदा किया जाता है,
न सोच कि भूल गया हूँ मैं तुझे,
रोज खुदा से पहले तुझे याद किया जाता है।
उनकी यादों को मिटाना बहुत कठिन है,
अपने गम को भूल जाना बहुत कठिन है,
जब राहे-मयखानों पर चलते हैं कदम,
होश में लौट कर आना बहुत कठिन है।
दिल को छू जाती है यूँ रात की आवाज़ कभी,
चौंक उठते हैं कहीं तूने पुकारा ही न हो।
मेरे जाने का तू अब कोई ग़म न करना,
अपनी खूबसूरत आँखों को नम न करना,
मेरे अरमान तो मेरे दिल में ही जल गये,
मेरी यादों को दिल से कम न करना।
मैं जहाँ हूँ अभी तेरी यादों में हूँ
जो गुजर रही मेरे बिन उन रातों में हूँ
इधर उधर मुड़के न देखो हमें,
नशा बन के अभी तेरी आँखों में हूँ।
कितना भी खुश रहने की कोशिश कर लो,
जब कोई बेहद याद आता है तो सच में बहुत रुलाता है।
हर पल की ख़ुशी आपकी याद में है,
हमारी हर हँसी आपके साथ में है,
दूर रहकर भी आपको याद करते हैं,
जरूर कोई प्यारी सी अदा आप में है।
मिसिंग यू...!!
एक कतरा ही सही आँख में पानी तो रहे,
ऐ मोहब्बत तेरे होने की निशानी तो रहे,
बस यही सोच के यादों को तेरी दे दी पनाह,
इस नये घर में कोई चीज पुरानी तो रहे।
हसीना से मिलें नजरें अट्रैक्शन हो भी सकता है,
चढ़े फीवर मोहब्बत का तो एक्शन हो भी सकता है,
हसीनों को मुसीबत तुम समझ कर दूर ही रहना,
ये अंग्रेजी दवाएं हैं रिएक्शन हो भी सकता है।
इस कदर उधार ले-ले कर खाया है हमने...
कि दुकानदार भी हमारी ज़िन्दगी की दुआ करते हैं!
ऐसी अपनी वाईफ हो,
जींस जिसकी टाईट हो,
चेहरा जिसका व्हाईट हो,
बालों में स्टाईल हो,
होंठों पर स्माइल हो,
इंडिया कि पैदाईश हो,
सास की सेवा जिसकी ख्वाहिश हो,
ऐसी अपनी वाईफ हो,
तो क्या हसीन लाईफ हो।
आँखो से आँखे मिलाकर तो देखो,
एक बार हमारे पास आकर तो देखो,
मिलना चाहेंगे सब लोग तुमसे,
एक बार मेरे दोस्त साबुन से नहाकर तो देखो।
ना तलवार की धार से 
ना गोलियों की बौछार से,
बंदा डरता है तो सिर्फ 
अपने बाप की मार से।
नज़रें मिली तो बेख्याल हो गए,
नज़रें झुकी तो सवाल हो गए,
और इतना घुमाया उसे प्यार में,
शॉपिंग कराते कराते कंगाल हो गए!
प्यार मोहब्बत तो सब धोखा है,
पढ़ाई कर लो बेटा अभी मौका है।
-------------------------------------
न वक्त इतना है कि सिलेबस पूरा किया जाए,
न तरकीब कोई कि एग्जाम पास किया जाए,
न जाने कौन सा दर्द दिया है इस पढ़ाई ने,
न रोया जाए और न सोया जाए।
अर्ज़ किया है...
कि बहार आने से पहले खिज़ां आ गई,
और फूल खिलने से पहले बकरी खा गई।
हम तनहा ही चले थे 
ज़िंदगी का दही जमाने,
बूंदियां मिलती गयीं... 
रायता बनता गया।
कभी मुर्गा तो कभी बत्तख बना देता है,
पता नहीं ये मास्टर मुझसे किस बात का बदला लेता है।
तुम्हें क्या पता गम क्या होता है,
तुम्हें क्या पता गम किसे कहते हैं,
तुम्हें क्या पता गम क्या चीज है,
क्यूंकि...
तुमने तो हमेशा थूक से चिपकाया है!
नींद आती है तो एक ख्वाब आता है,
ख्वाब में इक लड़की आती है,
और पीछे उसका बाप आता है,
फिर क्या...
फिर न नींद आती है न ख्वाब आता है।
जिनके घर शीशे के होते हैं... वो तो...
कहीं पर भी बैठ कर दाढ़ी बना लेते हैं।
मेरे प्यार को बेवफाई का इनाम दे गई,
मेरे दिल को अपनी यादों का पैगाम दे गई,
मैंने कहा मेरे दिल में दर्द है तेरे बिना,
तो वो जाते-जाते "झंडूबाम" दे गई।
1. अब सबसे ज्यादा परेशान तो “कान” हैं
पहले से ही चश्मे की डंडी, फिर ईयरफोन
की घुंडी और अब मास्क की डोरियां
कान है कि हैंगर .

2. लॉक डाउन सबको स्वस्थ और सुरक्षित रखने के लिए हुआ है,
हलवाई बनाने के लिए नहीं।।

३. आगामी दिनों में विवाहिक पत्रिका ऐसी होगी ,
भेज रहे हैं स्नेह निमंत्रण, प्रियवर तुम्हे दिखने को,
हे मानस के राजहंस, आ मत जाना खाने को..
फरिश्ते भी अब कहाँ जख्मों का इलाज करते हैं,
बस तसल्ली देते है कि अब करते है, आज करते है।

उनसे बिछड़कर हमको तो मिल गयी सल्तनत-ए-गजल,
चलो नाम उनके हम भी जमाने के तख्तों-ताज करते है।

नए चेहरों में अब पहली सी कशिश कहाँ है बाकी,
अब तो बस पुरानी तस्वीर देखकर ही रियाज करते है।

और एक दिन चचा "मीर" ने आकर ख्वाब में हमसे ये कहा,
शायरी करो "रोशन" यहाँ बस शायरों का लिहाज करते है।
बहुत दिन बाद शायद हम मुस्कुराये होंगे,
वो भी अपने हुस्न पर खूब इतराये होंगे।

संभलते-संभलते अब तक ना संभले हम,
सोचो किस तरह उनसे हम टकराये होंगे।

महक कोई आई है आँगन में कहीं से उड़कर
शायद उन्होंने गेसू अपने हवा में लहराये होंगे।

पीछे से तपाक से भर लिया बाँहों में उन्हें,
वस्ल के वक्त वो बहुत घबराये होंगे।

जब एक-दूसरे से बिछड़े होंगे वो दो पंछी
बहुत कतराते कतराते पंख उन्होंने फहराये होंगे।

जानते हो क्या इस ख़ुश-रू शख्स को,
पहचान कर भी कहना पड़ा नहीं वो कोई पराये होंगे।
मैंने गलती तो नहीं की बता कर तुझको,
मेरे दिल के हालात दिखा कर तुझको।

मैं भूखा ही रहा कल रात पर खुश था,
अपने हिस्से का खाना खिला कर तुझको।

दुनिया की बातों पे ग़ौर ना करना कभी,
मुझसे दूर कर देगा वो बहला कर तुझको।

मेरा दिल टूटेगा तो संभल जाऊँगा मैं,
उसका टूटा तो जायेगा सुना कर तुझको।

कोई है जो तुम्हें याद करता है बहुत,
रातभर जागता है वो सुला कर तुझको।

सोचो तो ज़रा कितनी सच्चाई है उसमें,
गया भी वो तो सच सिखा कर तुझको।
उदासी का ये पत्थर आँसुओं से नम नहीं होता,
हजारों जुगनुओं से भी अँधेरा कम नहीं होता।

बिछड़ते वक़्त कोई बदगुमानी दिल में आ जाती,
उसे भी ग़म नहीं होता मुझे भी ग़म नहीं होता।

ये आँसू हैं इन्हें फूलों में शबनम की तरह रखना,
ग़ज़ल एहसास है एहसास का मातम नहीं होता।

बहुत से लोग दिल को इस तरह महफूज़ रखते हैं,
कोई बारिश हो ये कागज़ जरा भी नम नहीं होता।

कभी बरसात में शादाब बेलें सूख जाती है,
हरे पेड़ों के गिरने का कोई मौसम नहीं होता।
मेरी ये जिद नहीं मेरे गले का हार हो जाओ,
अकेला छोड़ देना तुम जहाँ बेज़ार हो जाओ।

बहुत जल्दी समझ में आने लगते हो ज़माने को,
बहुत आसान हो थोड़े बहुत दुश्वार हो जाओ।

मुलाकातों के वफ़ा होना इस लिए जरूरी है,
कि तुम एक दिन जुदाई के लिए तैयार हो जाओ।

मैं चिलचिलाती धूप के सहरा से आया हूँ,
तुम बस ऐसा करो साया-ए-दीवार हो जाओ।

तुम्हारे पास देने के लिए झूठी तसल्ली हो,
न आये ऐसा दिन तुम इस कदर नादार हो जाओ।

तुम्हें मालूम हो जायेगा कि कैसे रंज सहते हैं,
मेरी इतनी दुआ है कि तुम फनकार हो जाओ।
हकीक़त भी यहीं है और है फ़साना भी,
मुश्किल है किसी का साथ निभाना भी।

यूँ ही नहीं कुछ रिश्ते पाक होते हैं,
पल में रूठ जाना भी पल में मान जाना भी।

लिहाज़ नहीं दिखता की हो बेग़ैरत तुम,
लाज़िम है किसी एक वक़्त में शरमाना भी।

मोहब्बत हो शहर में इश्क़ हर दिल में हो,
जरूरी है दीवानी भी जरूरी है दीवाना भी।

जरा सा सोच-समझ के करना बातें आपस में,
होने लगे हैं आजकल के बच्चे सयाना भी।

झूठ और सच बता सकता हूँ तेरे चेहरे से,
आया अब तक नहीं एक राज़ छुपाना भी।
ये जो है हुक्म मेरे पास न आये कोई,
इसलिए रूठ रहे हैं कि मनाये कोई।

ताक में है निगाह-ए-शौक खुदा खैर करे,
सामने से मेरे बचता हुआ जाए कोई।

हाल अफ़लाक-ओ-ज़मीन का जो बताया भी तो क्या,
बात वो है जो तेरे दिल की बताये कोई।

आपने दाग़ को मुँह भी न लगाया अफसोस,
उसको रखता था कलेजे से लगाये कोई।

हो चुका ऐश का जलसा तो मुझे ख़त भेजा,
आप की तरह से मेहमान बुलाये कोई।
कोई जाता है यहाँ से न कोई आता है,
ये दीया अपने ही अँधेरे में घुट जाता है।

सब समझते हैं वही रात की किस्मत होगा,
जो सितारा बुलंदी पर नजर आता है।

मैं इसी खोज में बढ़ता ही चला जाता हूँ,
किसका आँचल है जो पर्बतों पर लहराता है।

मेरी आँखों में एक बादल का टुकड़ा शायद,
कोई मौसम हो सरे-शाम बरस जाता है।

दे तसल्ली कोई तो आँख छलक उठती है,
कोई समझाए तो दिल और भी भर आता है।
मैं तो झोंका हूँ हवाओं का उड़ा ले जाऊंगा,
जागते रहना तुझे तुझसे चुरा ले जाऊंगा।

हो के कदमों पे निछावर फूल ने बुत से कहा,
ख़ाक में मिलकर भी मैं खुशबू बचा ले जाऊंगा।

कौन सी शय मुझको पहुँचाएगी तेरे शहर,
ये पता तो तब चलेगा जब पता ले जाऊंगा।

कोशिशें मुझको मिटाने की भले हो कामयाब,
मिटते मिटते भी मैं मिटने का मजा ले जाऊंगा।

शोहरतें जिनकी वजह से दोस्त दुश्मन हो गए,
सब यहीं रह जाएँगी मैं साथ क्या ले जाऊंगा।
तमन्ना छोड़ देते हैं... इरादा छोड़ देते हैं,
चलो एक दूसरे को फिर से आधा छोड़ देते हैं।

उधर आँखों में मंज़र आज भी वैसे का वैसा है,
इधर हम भी निगाहों को तरसता छोड़ देते हैं।

हमीं ने अपनी आँखों से समन्दर तक निचोड़े हैं,
हमीं अब आजकल दरिया को प्यासा छोड़ देते हैं।

हमारा क़त्ल होता है, मोहब्बत की कहानी में,
या यूँ कह लो कि हम क़ातिल को ज़िंदा छोड़ देते हैं।

हमीं शायर हैं, हम ही तो ग़ज़ल के शाहजादे हैं,
तआरुफ़ इतना देकर बाक़ी मिसरा छोड़ देते हैं।
Meri Dua Hai Ke Khush Raho Tum,
Mile Na Koi Ghum Jahan Bhi Raho Tum,
Samandar Ki Tarah Dil Hai Gehra Tumhara,
Khushioun Sa Bhara Rahe Daman Tumhara,
Tum Jo Kaho Woh Har Khawahish Poori Ho Tumhari,
Khuda Se Bus Yahi Dua Hai Hamari,
Tohfa Kya Doon Tumhain Duaoun Ke Siwa,
Ke Khuda Rahe Tum Se Raazi Sadaa.
Happy Birthda Dear.. ? ?
खुदा बुरी नज़र से बचाए आप को,
चाँद सितारों से सजाए आप को,
गम क्या होता है ये आप भूल ही जाओ,
खुदा ज़िन्दगी मे इतना हँसाए आप को।
HAPPY BIIRTHDAY ? ?
दुआ मिले बन्दों से खुशियां मिले जग से,
साथ मिले अपनों से रेहमत मिले रब से,
ज़िन्दगी में आप को बे पनाह प्यार मिले,
खुश रहे आप दुनिया में ज्यादा सुब से।
Happy Birthday Dear ? ?
आसमान की बुलंदियों पर नाम हो आपका,
चाँद की धरती पर मुकाम हो आपका,
हम तो रहते है छोटी सी दुनिया में,
पर खुदा करे सारा जहाँ हो आपका! ?
तोहफा-ए-दिल दे दूँ या दे दूँ चाँद तारे,
जन्मदिन पे तुझे क्या दूँ, यह पूछते हैं मुझसे सारे,
ज़िन्दगी तेरे नाम कर दूँ भी तो कम है,
दामन में भर दूँ हर पल ख़ुशीयां मैं तुम्हारे।
हैप्पी बर्थडे! ? ?
तोहफा मैं तुझे आज मेरा दिल ही देता हूँ,
ये हसीन मोका गवाना नहीं चाहता हूँ,
अपने दिल की बात तुम्हारे सामने बतलाता हूँ,
और तुम्हारे जन्म दिन की शुभ कामनाये देता हूँ.
HAPPY BIRTHDAY ? ?
जन्मदिन के ये ख़ास लम्हें मुबारक,
आँखों में बसे नए ख्वाब मुबारक,
जिंदगी जो लेकर आई है आपके लिए आज..
वो तमाम खुशियों की हंसीं सौगात मुबारक!
Happy Birthday! ?
आप वो फूल हो जो गुलशन में नहीं खिलते,
पर जिस पे आसमान के फरिश्ते भी फक्र है करते,
आप की ज़िंदगी हद से ज़्यादा कीमती हैं,
जनमदिन आप हमेशा मनाये यूँ ही हंसते हंसते।
HAPPY BIRTHDAY DEAR ?
ख्वाहिशों के समंदर के सब मोती तेरे नसीब हो,
तेरे चाहने वाले हमसफ़र तेरे हरदम करीब हों,
कुछ यूँ उतरे तेरे लिए रहमतों का मौसम,
कि तेरी हर दुआ, हर ख्वाहिश कबूल हो।
जन्मदिन की बधाई! ? ?
दिल से मेरी दुआ है कि खुश रहो तुम,
मिले न कोई गम जहाँ भी रहो तुम,
समंदर की तरह दिल है गहरा तुम्हारा,
सदा खुशियों से भरा रहे दामन तुम्हारा..
Happy Birthday Dear. ?
ज़िंदगी की कुछ खास दुआए लेलो हमसे,
जन्मदिन पर कुछ नजराने ले लो हमसे,
भर दे रंग जो तेरे जीवन के पलो में..
आज वो हसी मुबारक बाद ले लो हमसे।
HAPPY BIRTHDAY ? ?
मैं लिख दू तुम्हारी उम्र चाँद सितारों से…
मैं मनाऊ जन्मदिन तुम्हारा फूल बहारों से
ऐसी खूबसूरती दुनिया से लेकर आऊ मैं
के सारी महफ़िल सज जाए हसीं नजारो से
आपको दिल से जन्मदिन मुबारक हो.. ? ?
बेपन्हा मोहब्बत तुम से मिलकर हुई,
दिल को ख़ुशी तुमसे मिलकर हुई,
पाया सब कुछ दुनिया में मैंने,
पर जीने की ख्वाहिश तुमसे मिलकर हुई
Happy Birthday my Dear
ज़िंदगी की कुछ खास दुआए लेलो हमसे,
जन्मदिन पर कुछ नजराने ले लो हमसे,
भर दे रंग जो तेरे जीवन के पलो में,
आज वो हसी मुबारक बाद ले लो हमसे।
Happy Birthday! 
जन्मदिन के ये ख़ास लम्हें मुबारक,
आँखों में बसे नए ख्वाब मुबारक,
जिंदगी जो लेकर आई है आपके लिए आज..
वो तमाम खुशियों की हंसीं सौगात मुबारक।
Happy Birthday! 
भीड़ में खड़ा होना
मकसद नहीं हैं मेरा,
बल्कि भीड़ जिसके लिए
खडी है वो बनना है मुझे!!
वकूफ़ होते है वो लोग,
जो किताब मे चेहरे डाल के पढ़ा करते है,
हम तो उनमे से है जो चेहरे को देख के,
किताब लिख दिया करते है!!
चलो आज फिर थोडा मुस्कुराया जाये,
बिना माचिस के कुछ लोगो को जलाया जाये!!
शायरीयो का बादशाह हूँ और कलम मेरी रानी है,
अल्फाज़ मेरे गुलाम है, बाकी रब की महेरबानी है!!
अंजाम की परवाह होती तो,
हम मोहब्बत करना छोड़ देते,
मोहब्बत में तो जिद्द होती है,
और जिद्द के बड़े पक्के हैं हम!! ?
माना की नसीब में मेरे कोई सनम नहीं
फिर भी कोई शिकवा कोई गम नहीं
तनहा थे और तनहा जिये जा रहे है
बदनसीब तो वो है जिनके नसीब में हम नहीं।
हुकुमत वो ही करता है जिसका दिलो पर राज हो!!
वरना यूँ तो गली के मुर्गो के सर पे भी ताज होता है!!
कुत्ते भौंकते है.. ज़िंदा होने का एहसास दिलाने के लिए
जंगल का सनाटा.. शेर की मौजूदगी बयां करता है.
Anjaam Ki Parwaah Hoti Toh
Hum Mohabbat Karna Chhod Dete
Mohabbat Mein Toh Zid Hoti Hai
Aur Zid Ke Bade Pakke Hain Hum.....
हम अच्छे सही पर लोग ख़राब कहतें हैं
इस देश का बिगड़ा हुआ हमें नवाब कहते हैं
हम ऐसे बदनाम हुए इस शहर में
कि पानी भी पिये तो लोग उसे शराब कहते हैं।
मार ही डाले जो बे-मौत
ये दुनिया वाले
हम जो जिन्दा हैं तो
जीने का हुनर रखते है।
अक्सर वही लोग उठाते हैं
हम पर उँगलियाँ,
जिनकी हमें छूने की
औकात नहीं होती।
हाथ में खंजर ही नहीं आँखों में पानी भी चाहिए,
हमें दुश्मन भी थोड़ा खानदानी चाहिए।
पगली तू क्या तेरी सहेली भी,
हमारी फोटो
देखकर  कंफ्यूज हो जाती है की,
पहले लाइक करू या सेव