Wishes

जब भी मैं बुरे समय से घबराती हूँ,
मेरी पहाड़ों वाली माता की आवाज आती हैं
रुक मैं अभी आती हूँ।

jab bhee main bure samay se ghabaraatee hoon,
meree pahaadon vaalee maata kee aavaaj aatee hain
ruk main abhee aatee hoon.


जब भी मैं बुरे समय से घबराती हूँ,
मेरी पहाड़ों वाली माता की आवाज आती हैं
रुक मैं अभी आती हूँ।
सारा जहां है जिसकी शरण में,
नमन है उस मां के चरण में,
हम हैं उस मां के चरणों की धूल,
आओ मिलकर मां को चढ़ाएं श्रद्धा के फूल!
शुभ नवरात्रि
माता का जब पर्व है आतामाता का जब पर्व है आता
ढेरों खुशियां साथ है लाता;
इस बार माँ आपको वो सबकुछ दे;
जो कुछ आपका दिल है चाहता।
नवरात्रि की शुभ कामनायें!